Affirmation Kya hai…और यह कैसे काम करता है – must read

Affirmation Kya hai…जानिए Affirmation क्या है..और यह कैसे काम करता है  :

आज हम बात करेंगे Affirmation की आखिर क्या है…” Affirmation “. मैंने अपने पहले की एक पोस्ट  Self Confidence Tips in Hindi -आत्मविश्वास बढ़ाने के 11 जबरदस्त तरीके  में एक point बताया था Affirmation तो आज मैं उसी के बारे आपको Explain करूंगी , यह काम कैसे करता है। Affirmation बहुत कमाल की चीज़ है। कम ही लोग जानते होंगे इसके बारे ,अगर आपने इसे समझ लिया तो यह Health से ले कर Career , आपके Goals को हासिल करने में बहुत मदद मिलेगी। तो कृपया इस आप पोस्ट को पूरा पढ़े।

Affirmation Kya hai

Affirmation क्या है :  Affirmation यानि ऐसे वाक्य या शब्द , यदि इसे विश्वास एवं भावनाओ के साथ लगातार दोहराया जाये तो वे हमारी सोच को प्रभावित करते है। फिर वो चाहे सकारात्मक (Positive) वाक्य हो या नकारात्मक (Negative) वाक्य। 

   Affirmation कैसे काम करता है ?

” Affirmation kya hai ” ये तो आपने जान लिया अब जानते है यह काम कैसे करता है। Affirmation हमारे चेतन (Conscious mind)  एवं अवचेतन मन (Sub Conscious mind)  को प्रभावित करता है। तो चलिए जानते है चेतन (Conscious mind)  एवं अवचेतन मन (Sub Conscious mind) क्या है। 

मनोविज्ञान ( Psychology) के अनुसार हमारे मस्तिष्क के दो हिस्से होते है। चेतन (Conscious mind)  एवं अवचेतन मन (Sub Conscious mind) .

चेतन (Conscious mind) का 10 % होता है और अवचेतन मन (Sub Conscious mind) 90 % .

Affirmation Kya hai

चेतन (Conscious mind) : Conscious mind हमारा सक्रिय (Active) अवस्था है , यह सही गलत में फर्क जानता है।  हम जो भी सोच विचार , तर्क करते है, conscious mind से करते है। 

अवचेतन मन (Sub Conscious mind) : Sub Conscious mind सही गलत में फर्क नहीं जानता , आप अपने अवचेतन मन में जो भी बातें जाने देंगे वे उसे सच मान लेगा। हमारा  Sub-conscious mind एक storage या Database की तरह है , जो हमारे सभी विचारो , अनुभवों , धारणाओं को store कर के रखता है।  

for example – जब भी कोई व्यक्ति पहली बार ड्राइविंग सीखता है तो उसका सारा ध्यान balance (संतुलन) पे होता है , शुरुवात में वे ठीक से balance नहीं कर पाता और डरा हुआ महसूस करता है। और जब उसे पूरी तरह से ड्राइविंग सीख जाता है तो उसे balance (संतुलन) पे फोकस करने की जरूरत नहीं पड़ती। तब हम बात करते हुए या कोई कार्य करते हुए भी ड्राइव कर लेते है।

ऐसा इसीलिए होता है ,जब हम ड्राइविंग सीख रहे होते है , तो उस वक़्त हमारा  conscious mind  इस्तेमाल होता है , जैसा की आपको मैंने पहले बताया यह हमारा सक्रिय (Active) अवस्था है…लेकिन जब हम practice करते है। यह हमारे Sub-conscious mind में Store होना शुरू हो जाता है…और धीरे-धीरे sub conscious mind , conscious mind की जगह ले लेता है। 

हमारा Sub-conscious mind हमारे Conscious mind से कई गुना शक्तिशाली होता है। 

आपने 3 idiots में वो ”  all izz well  ” वाला scene तो देखा ही होगा। जिसमे आमिर खान कहते है।

” हमारा दिल बहुत डरपोक होता है, उसे बेवकूफ बना के रखो ,लाइफ में कितनी भी परेशानी हो दिल में हाथ रख के कहो all izz well चाचु ” 

बस similar है हमारा  Sub-conscious mind भी। उसे जैसे कहंगे , सिखाएँगे वो वैसा ही काम करेगा। 

Affirmation हमारे चेतन (Conscious mind)  एवं अवचेतन मन (Sub Conscious mind) को इस प्रकार प्रभावित करता है। 

जैसे आपको कोई काम सौंपा गया आपके विचार और Affirmation कुछ ऐसे थे ,

” मैं इसे बहुत अच्छे से कर लूँगी “,

” मेरी किस्मत अच्छी है , की मुझे ये opportunity मिली ”

“मैं Talented हूँ ,मैं Hardworking हूँ  ”

” मुझे इसमें सफलता मिलेगी ” . 

तो आपको वैसे ही results मिलेंगे , जैसे आपने अपने लिए धारणा बनाई है।


और वही अगर आपके विचार , भावनायें , Affirmations अगर Negative हो।

” मुझसे नहीं होगा ये ”

” मेरी तो किस्मत ही ख़राब है ”

” मुझे तो डर लगता है स्टेज पे जाने से ”

” मैं तो आलसी हूँ , मैं इतनी मेहनत कैसे कर पाऊँगी ” 

तो यकीन मानिये आपको Negative Results ही मिलेंगे , क्योकि आपने Sub-conscious mind में इन भावनाओ को Store कर लिया। इसी से होता है  की हमे कोई काम बहुत मुशकिल लगता है कोई आसान , क्योकि हम Sub-conscious mind में स्टोर करते रहते है ,

“मुझे ये काम मुश्किल /आसान  लगता है ” .

Read : रतन टाटा की ये 10 बाते जो बदल देंगी आपकी सोच-

लक्ष्य प्राप्ति के लिए कुछ Affirmations 

Example : ” मैं अपने लक्ष्य को पा कर रही रहूँगी / रहूँगा ”

” हर काम को time पे पूरा करना मेरा स्वाभाव है ”

” मैं अपने समय की कदर करती / करता  हूँ ”

” मुझे खुद पर विश्वास है ”

” मैं किसी भी काम को पूरा करनी की ठान लेती / लेता  हूँ ,तो उसे पूरा कर के ही रहती /रहता हूँ ”

अच्छे स्वास्थ के लिए कुछ Affirmations 

Example : ” मैं खुद से प्यार करती / करता हूँ , और मैं पूरी तरह से स्वस्थ हूँ ”

” मेरे विचार हमेशा सकारात्मक होते और मैं खुश रहती हूँ ”

” मेरे लिए हर दिन आशा , खुशी और स्वास्थ से भरा एक नया दिन है ”

” हर दिन मेरा शरीर अधिक ऊर्जावान और अधिक स्वास्थ होता है ”

ऐसे की कुछ Affirmation आप अपने दिनचर्या में शामिल करे और इन्हे सुबह उठकर पुरे विश्वास के साथ बोला करे। लेकिन ध्यान रखे जब भी Affirmations बोले तो ,उसे इस भावना और विश्वास के साथ बोले जैसा अभी भी आप वैसे ही है। फिर आपको इसके सकारात्मक परिणाम दिखने लगेंगे , आप और आपके विचार भी सकारात्मक होने लगेंगे।

Read : Best Moral Stories in Hindi- शिक्षाप्रद कहानियां हिंदी में

दोस्तों कैसी लगी आपको मेरी यह पोस्ट Affirmation Kya hai…और यह कैसे काम करता है , आशा करती हूँ आप समझ गए होंगे Affirmation Kya hai…और यह कैसे काम करता है , और साथ ही अवचेतन मन (Sub Conscious mind) topic भी clear हो गया होगा। तो आपको कैसी लगी मेरी यह पोस्ट Comment कर के जरूर बताये। और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करे Facebook आदि पे….धन्यवाद। 

 

Hello I am Sarabjeet Kaur from jamshedpur and i am founder of talkshauk.com. I have completed Diploma in Computer Engineering.

If u like this Post Please Share..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *