Best Moral Stories in Hindi- शिक्षाप्रद कहानियां हिंदी में

Best Moral Stories in Hindi- शिक्षाप्रद कहानियां हिंदी में :

दोस्तों आज हम पढ़ेंगे Moral Stories in Hindi, यानि शिक्षाप्रद कहानियां….इन छोटी-छोटी  शिक्षाप्रद कहानियो से हमे बहुत कुछ सिखने को मिलता है…हम इन कहानियों से अपने जीवन में अच्छे बदलाव ला सकते है…यह Moral Stories व्यक्ति को निराशा से आशा की ओर ले जाती है…वैसे तो ये सिर्फ कहानियां है लेकिन इसका संदेश बहुत ही प्रेणादायक है। तो चलिए पढ़ते है शिक्षाप्रद कहानियां हिंदी में (Moral Stories in Hindi).

 

जीवन का मूल्य – Moral Stories in Hindi

एक बार की बात है…एक लड़का अपने गुरु जी के पास जाता है, और कहता है गुरु जी बताइये मेरे “जीवन का मूल्य क्या है ” . गुरूजी उस लड़के को एक पत्थर देते है और कहते है…..पहले तू जा और इस पत्थर का मूल्य पता कर के आ लेकिन एक बात याद रखना इस पत्थर को किसी को देना मत या बेचना मत…लड़का कहता है ठीक है गुरूजी और निकल जाता है….उस पत्थर का मूल्य पता करने।

सबसे पहले वह एक फल वाले के पास जाता है…और कहता है….इसका मूल्य क्या है। अब फल वाला उस पत्थर को देखता है और कहता है…” 15 सेब ले जा और मुझे यह पत्थर दे जा ” .

अब आगे उसे एक सब्जी वाला मिलता है वह भी पत्थर देखता है। और कहता है….” मुझे ये पत्थर दे जा और बदले में 1 बोरी आलू ले जा ”

फिर आगे उस लड़के को एक सोनार मिलता है…लड़का सोनार से भी कहता  है, इस पत्थर का मूल्य क्या है। सोनार उस पत्थर को देखता है….और कहता है…” 10  लाख ले जा और मुझे यह चमकीला पत्थर दे जा ” .

लड़का सोनार को मना कर देता है, तो सोनार कहता है चल 20 लाख ले जा, लेकिन तू मुझे यह पत्थर दे जा, या फिर तू इसकी जो कीमत माँगेगा मैं तुझे दूंगा। लड़का कहता है, मेरे गुरूजी ने इसे बेचने से मना किया है… और वहाँ से चला जाता है।

अब आगे उसे एक जौहरी मिलता है….वह लड़का जौहरी को भी वह पत्थर दिखाता है….और पूछता है इस पत्थर का क्या मूल्य है….?

जब जौहरी ने उस बेशकीमती पत्थर रूबी को देखा तो कहा – ” कहाँ से लाया यह बेशकीमती रूबी ”

सारी दुनिया, सारी दौलत बेच के भी इसकी कीमत नहीं लगाई जा सकती। यह तो बेशकीमती है…यह सुनकर लड़का हैरान परेशान हो कर अपने गुरूजी के पास वापस लौट जाता है।

वह अपने गुरूजी सारी बाते बताता है…और कहता है अब बताइये “जीवन का मूल्य क्या है ” . अब गुरूजी कहते है. हमारे जीवन का मूल्य भी इसी पत्थर की तरह है। जैसे तुमने सबसे पहले फल वाले को पत्थर दिखाया तो इसकी कीमत (मूल्य) 15 सेब बताई। फिर सभी वाले ने इसकी कीमत 1 बोरी आलू बताई , सोनार ने लाखो रुपये, और जौहरी ने इसे बेशकीमती बताया।

अब ऐसा ही मानवीय जीवन का भी मूल्य है….तू बेशकीमती हीरा है…लेकिन सामने वाला तेरी कीमत अपनी औकात…अपनी जानकारी…हैसियत से लगाएगा।

ये भी पढ़े : Best Motivational Story in Hindi 


दो पत्थर -Moral Stories in Hindi

एक समय की बात है….एक कलाकार अपने औजारों को थैले में डाल जंगल की ओर जा रहा था। जंगल को कुछ दूर चलने पर उस कलाकार को एक सुन्दर पत्थर दिखा। उसने वह सुन्दर पत्थर को देख सोचा क्यों न इससे एक सुन्दर मूर्ति बनाई जाये। फिर उसने अपने थैले से औज़ार निकल पत्थर को तराशना शुरू किया। अभी कुछ पल ही हुए थे। तभी कलाकार को पत्थर से एक आवाज़ आयी “मुझे तुम्हारे तराशने से बहुत दर्द हो रहा है..कृपया मुझे छोड़ दो मुझे मत तराशो ”

कलाकार ने यह सुनते ही अपने औजार वापस थैले में रख दिए…और आगे की ओर चल पड़ा चलते-चलते कुछ देर उस कलाकार को एक और सुन्दर पत्थर दिखा। कुछ देर सोचने के बाद उसने अपने थैले से औजार निकाले और पत्थर को तराशना शुरू किया। और उसने भगवान की इतनी सुन्दर मूर्ति बनाई , जैसे मूर्ति अभी बोल पड़ेगी। वह कलाकार अपनी कलाकृतियों को वही छोड़ आगे बढ़ गया।

कुछ महीनो बाद वह कलाकार उसी रस्ते से गुजर रहा था। जहाँ उसने मूर्ति बनाई थी। उसने देखा वहाँ एक भव्य मंदिर बनवाया गया था। उस कलाकार से सोचा भगवान के दर्शन कर लेता हूँ। जब वह मंदिर के अंदर गया तो उसने वही मूर्ति देखी जो उसने बनाई थी और वह पत्थर भी वही रखा , जिसे उससे कहा था मुझे ना तराशे।

उस सुन्दर मूर्ति की लोग पूजा आरती कर रहे थे। फूलो की माला पहना रहे थे. और उस दूसरे पत्थर पर लोग नारियल फोड़ रहे थे। उस कलाकार ने भी वहाँ पूजा की और चला गया।

इसी तरह लोग उस सुन्दर मूर्ति की पूजा करते ,फूलो की माला पहनाते। और लोग उस दूसरे पत्थर पर नारियल फोड़ते। यह बात उस दूसरे पत्थर को बहुत बुरी लगी। तो उसने उस पत्थर की मूर्ति से बोला , ” मैं भी पत्थर का बना हूँ और तुम भी , फिर भी लोग तुम्हारी पूजा करते है….फूलो की माला पहनाते और मुझ पर नारियल फोड़ते है ” .

इस पर मूर्ति ने कहा – ” अगर तुम भी मेरी तरह उस दिन दर्द सहन कर लेते तो आज तुम मेरी जगह बैठे होते , लोग तुम्हारी भी पूजा करते तुम्हे भी फूलो की माला पहनाते ” .

जो लोग दर्द सहन कर जाते है..अपने लक्ष्य को अपने की लिए मेहनत, struggle करते है। वही अपनी ज़िन्दगी मे बहुत बड़ा बन पाते है। और उन्ही को पूजा भी जाता है।


दोस्तों कैसी लगी आपको ये Moral Stories in Hindi, अगर आपको अच्छी लगी तो हमे comment के माध्यम से जरूर बताये। और share करना ना भूले Facebook , Twitter , Whatsapp , Google plus etc पे। धन्यवाद्


 

Hello I am Sarabjeet Kaur from jamshedpur and i am founder of talkshauk.com. I have completed Diploma in Computer Engineering.

If u like this Post Please Share..

10 thoughts on “Best Moral Stories in Hindi- शिक्षाप्रद कहानियां हिंदी में”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *