एकाग्रता बढ़ाने के जबरदस्त तरीके – Concentration Techniques for Students in Hindi

एकाग्रता बढ़ाने के जबरदस्त तरीके – Concentration Techniques for Students in Hindi

आप कोई भी काम कर रहे हो जैसे पढाई या ऑफिस का काम, हमारे आस-पास ध्यान भटकाने वाली चीज़े होती है।  जिससे हमारा काम पर एकाग्र (concentrate) कर पाना  मुश्किल हो जाता है। हर student  सफल होना चाहता है। और  वह सफल तभी हो पाता है जब वह अपना सारा ध्यान और दिमाग पढाई अथवा उस एक काम या field में लम्बे समय तक लगाता है और concentrate करता है। एकाग्र करना थोड़ा मुश्किल जरूर है लेकिन नामुमकिन नहीं है। हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे Concentration क्या है और जानेंगे  कुछ Concentration techniques .

एकाग्रता यानि Concentration क्या है –

Concentration Techniques in Hindi

जब किसी मनुष्य की सारी मानसिक तथा शारीरिक शक्ति उस कार्य में लगी हो जिसे वह करना चाहता है और उस समय उसका ध्यान किसी भी और चीज़ में न जाये उसे हम एकाग्र होना कहते है। सभी तपस्याओं में सबसे बड़ा तप है एकाग्रता।

  1. अच्छे माहौल का चुनाव करे आप ऐसे माहौल का चुनाव करे जहाँ आपको कोई जल्दी disturb ना कर सके।  और ऐसे समय का चुनाव करे जिस समय आपको पढ़ने में comfortable लगता हो।  जैसे किसी को रात में पढाई करना पसंद है तो किसी को सुबह-सुबह। अपने हिसाब से चुनाव करे।
  2. रात को पढाई करते समय table lamp का प्रयोग करे ,  table lamp की रौशनी सिर्फ आपकी किताब तक ही सीमित रहती है। और आपका ध्यान इधर- उधर नहीं भटकता यह एकाग्रता बढ़ाने का एक महत्वपूर्ण तरीका है।
  3. अपने विचारो को नियंत्रित करने का अभ्यास करे , पढाई करते वक़्त अधिकतर students का मन इधर-उधर जाता ही है। इससे परेशान न होये , ये normal सी बात है।  ये विचार ही हमे मनुष्य बनाते है। जिस प्रकार कोई विचार हमारे दिमाग में आता है , वैसे ही वह चला भी जाता है। जैसे ही विचार दिमाग से वापिस जाये फिर से पढाई में लग जाये। ऐसा करने से आप कुछ ही दिनों में महसूस करने लगेंगे की आपका दिमाग इन विचारो को आते ही रोकने लगेगा। और आप जो काम कर रहे है उसमे आप लम्बे समय तक concentrate कर पाएंगे।
  4. एक अच्छा time table बनाये जब हमे पढ़ने का जोश आता है हम एक बड़ा सा time table बना लेते है 1 month का , पर अधिकांश students इसे 2 -3 दिन से जायदा इसे follow नहीं कर पाते।  आप कोई भी चीज़ का time table छोटे से बनाये, फिर धीरे-धीरे समय बढ़ाये। आप शुरुवात में कभी भी 1 month का time table न बनाये। केवल 3-5  दिन का बनाये , starting  में जायदा बड़ा time table बना लेने से होता क्या है। हम 2 -3  दिन तो बहुत मेहनत करते है, अपनी सारी energy उसी में लगा देते है।  उसके बाद उस काम से  bore हो के थक के उसे छोड़ देते है।                                                                                                                                                                                                 ” थक कर आराम करने की आदत डालो , हिम्मत हारने की नहीं ” .                                                                                                                                                                                                                                                                                 Suppose आप 6 hr पढ़ाई कर सकते हो तो, केवल 4 hr  पढ़ाई का time table बनाओ। time table बनाते समय एक column time table को check करने के लिए बनाये।  रात को सोते समय check करे आपने time table कितना follow किया। जो काम अपने कर लिए है उस पर tick कर ले , जो काम नहीं कर पाए वहाँ cross कर दे।  इससे आपको अंदाज़ा हो जायेगा आगे आपको कितना टाइम बढ़ाना है।                                                
  5. आहार पर ध्यान दे , आप जब भी किसी नये काम की शुरुआत करे तो liquid diet  ले या कुछ light diet ले, क्योकि जब आप जायदा काम करेंगे और heavy खाना खाएंगे तो आपको इससे नींद भी आएगी और आलस भी हो जायेगा , हल्का भोजन लेने से होगा क्या एक तो आपको नींद नहीं आएगी आलस नहीं होगा , दूसरा आप active रहेंगे। और पढाई पे Concentration भी अच्छा होगा। एक imp बात आपको 10-12 गिलास पानी पीना है।  हो सके तो vitamin-E युक्त फल भी ले इससे भी फायदा होगा। protein , minerals  ले पर  carbohydrate food पर फोकस न  करे इससे आपको नींद और आलस होगा।
  6.  सकारात्मक सोच – अपनी सोच को सकारात्मक रखे , जब आप अच्छा और सकारात्मक सोचेंगे तो आपका दिमाग भी fresh और पॉजिटिव रहेगा। इससे आपके किसी भी काम को आसानी से कर पाएंगे। अपने दिमाग को भी बॉडी ही तरह अच्छी डाइट दे , यानि कुछ motivational articles , videos देखे, कोई अच्छा music सुने। इससे आपका mind fresh और happy हो जाता है , और हम Concentration पावर भी अच्छी हो जाती है। जिससे हम पढाई पर अच्छे से Concentrate भी कर पाते है।

ये थे कुछ Concentration Techniques जिसे अपनाकर आप अपनी Concentration पावर बढ़ा सकते है।  friends आपको Concentration Techniques in Hindi article  कैसा लगा comment कर के बताये और share करे।  thankyou ……..

 

Hello I am Sarabjeet Kaur from jamshedpur and i am founder of talkshauk.com. I have completed Diploma in Computer Engineering.

If u like this Post Please Share..

2 thoughts on “एकाग्रता बढ़ाने के जबरदस्त तरीके – Concentration Techniques for Students in Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *