खुद के लिए समय निकाले – Khud Ke Liye Samay Nikale.

खुद के लिए समय निकाले – Khud Ke Liye Samay Nikale: 

नमस्कार दोस्तों, मैं सरबजीत कौर आपका स्वागत करती हूँ अपनी इस पोस्ट “खुद के लिए समय निकाले – Khud Ke Liye Samay Nikale. “  में….आज हम समय के विषय में बात करेंगे।

आज के समय में इंसान इतना व्यस्त हो गया है की खुद के लिए भी समय नहीं रहता। आज की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में कोई किसी से पीछे नहीं रहना चाहता किसी भी क्षेत्र में , चाहे पैसे के मामले में हो या फिर किसी और…., इसमें कोई दो राय भी नहीं है…पैसा कामना तो बहुत ही जरुरी है, और भला हम किसी से पीछे रहे भी क्यों। इसीलिए सुबह होते ही काम की भागदौड़ शुरू हो जाती है। और रात को थक हार के सो जाते है। पर क्या हमे सुकून है आराम है…?

दोस्तों ,आज हमारी पोस्ट का मकसद ही है.. की हम जाने की इस भागदौड़ भरी व्यस्त जिंदगी में हम खुद के लिए समय कैसे निकाले। और खुद के लिए समय निकलना जरुरी क्यों है…हम सभी अपने जीवन में सुकून , शांति चाहते है.

खुद के लिए समय निकाले

खुद के लिए समय निकाले – समय अनमोल एवं कीमती है –

समय बहुत अनमोल और कीमती होता है, एक बार समय चला जाता फिर लौट कर कभी नहीं आता। तो यह अनमोल और कीमती तोफहा समय खुद को भी दे।  जो time हम इधर – उधर waste करते है , वही समय हम खुद के लिए बचा सकते है। जब हम free होते है तो ,  हम social media में 2-4 घंटे यु ही बीता देते है…आजकल लोग सबसे अधिक समय यही waste कर देते है। और भी ऐसी बहुत की छोटी- छोटी चीज़े है, जहाँ से हम कुछ समय बचा कर, खुद को  दे सकते है।

  • जैसे टीवी में कुछ ना भी देखना हो फिर भी हम इधर- उधर चैनल घुमाते रहते है। 
  • और जैसे हमने सोशल मीडिया की बात की – facebook , whatsapp , twitter , instagram etc.
  • या फिर यहाँ वहाँ की गॉसिप, कही -कही तो राजनीति की बातें घंटो तक चलती है।  
  • हम देर रात तक भी फ़ोन , इंटरनेट , टीवी में व्यस्त रहते है. जिसके कारण हमारी आँखों , शरीर  , दिमाग  को आराम नहीं मिल पाता। जिसके कारण हम अगले दिन भी लेट थके हुए उठते है। और हमारा मन भी चिड़चिड़ा रहता है।
  • इसीलिए हम सोने से 1 या आधे घंटे पहले हमे टीवी , फ़ोन से दूर रहना चाहिए।
  • यहाँ भी हमारा थोड़ा समय बचेगा और अगले दिन हम जल्दी उठ पाएंगे।                            ” सुबह का पहला घंटा पुरे दिन की दिशा तय करता है ” – हेनरी वार्ड बीचर  

ऐसा नहीं की ये सब हमे नहीं करना चाहिए ये सब बुरी चीज़े है, बस समय को बैलेंस करना सीखे, जैसे कही 2 घंटे बीता रहे थे तो, वहाँ एक घंटा कर दे। ऐसा कर के हम खुद के लिए समय बचा सकते है।

    खुद के लिए समय निकाले –खुद को समय देना जरुरी क्यों है –

हमने समय बचाने के कुछ टिप्स जाने , अब हम जानेंगे खुद को समय देना जरुरी क्यों है। अकेले समय बिताना शायद थोड़ा बोरिंग लग सकता है पर है बहुत मज़ेदार और इसके फायदे भी बहुत है।

सुकून एवं शांति :

रोज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हमारा शरीर दिमाग थक सा जाता है…और लाइफ काफी बोरिंग भी हो जाती है। ऐसा लगता है बस ज़िन्दगी कट रही है , मन भी चिड़चिड़ा और उदास हो जाता है…हमे हमारी ज़िन्दगी में अशांति सी लगने लगती है। ऐसे में लगता है थोड़ा सुकून भरा समय मिल जाये, अगर आपको सुकून भरा समय चाहिए तो खुद के साथ अकेले (एकांत) मे समय गुजारे। आप खुद समझने लगेंगे फिर कैसा होता है…खुद के साथ समय बिताना, कितना सुकून और शांति मिलती है आपको,..

खुद की कमजोरियों एवं मजबूती को जाने –

दुनिया में कोई भी इंसान परफेक्ट नहीं होता सभी में कुछ न कुछ कमियाँ होती है ,और सभी में कुछ ना कुछ खासियत भी होती है। जब हम एकांत में खुद के साथ समय गुजारेंगे तब हम खुद को बेहतर जान पाएंगे हमारी कमियाँ क्या है…और हमारे में क्या- क्या खासियत है। 

अपनी लाइफ की अच्छी प्लानिंग कर सकते है –

जब भी हम अकेले में होते है..हमारा मन शांत होता है…तब हम अपनी लाइफ को Deeply Analyze कर पाते है। इस कीमती समय में आप अपनी लाइफ की अच्छे से प्लानिंग कर सकते है।  अपने और अपने परिवार  के लिए अच्छे निर्णय ले सकते है। 

अगले दिन की प्लानिंग  –

जब आप  रोज खुद को समय देंगे तो आप अगले दिन की अच्छी प्लानिंग पर पाएंगे, पुरे दिन आपको कब क्या करना है…इससे आपके काम आसान हो जायेंगे, आपको जल्दबाजी नहीं रहेगी। आपके सभी काम समय के साथ पुरे हो जाएँगे , जिससे आपको तनाव नही होगा और हमेशा फ्रेश और अच्छा महसूस होगा , और आप फिर से खुद के लिए सुकून भरा समय निकाल पाएंगे।

खुद को समय ना दे पाने के नुकसान –

अगर आप खुद को समय नहीं देंगे तो जिंदगी बिलकुल बोरिंग हो जाती है । ना तो आपको relax feel  होता और ना ही  जिंदगी में शांति महसूस होती है । धीरे – धीरे यह तनाव का रूप ले लेती है, तो दोस्तों एकांत में कुछ समय जरूर गुजरा करे , इसमें ना तो फ़ोन का इस्तेमाल करे ना किसी और चीज़ का। इससे आपका सारा ध्यान आप पर होगा। और आप खुद को बेहतर जान पाएंगे।

ये भी पढ़े – अकेलापन और एकांत में क्या अंतर है.

दोस्तों अगर आप खुद से थोड़ा भी प्यार करते है तो, रोज अपने लिए समय निकले खुद को यह कीमती तोफहा जरूर दे। फिर आप खुद ही समझ जायेंगे की, खुद को समय देने से आपको क्या महसूस हो रहा है, फिर तो यह आपकी आदत बन जाएगी और आपको बहुत सुकून मिलेगा, आपका तनाव , चिड़चिड़ापन धीरे – धीरे समाप्त हो जायेगा।

तो दोस्तों आपको मेरा यह आर्टिकल “खुद के लिए समय निकाले – Khud Ke Liye Samay Nikale.” कैसा लगा। हमे  comment के माध्यम से जरूर बताये, हमे खुशी होगी। और आपको आर्टिकल अच्छा लगा हो तो शेयर भी करे दे, facebook , whatsapp , twitter आदि पे।

आप हमसे  twitter , instagram आदि पर भी जुड़ सकते है। धन्यवाद

Hello I am Sarabjeet Kaur from jamshedpur and i am founder of talkshauk.com. I have completed Diploma in Computer Engineering.

If u like this Post Please Share..

4 thoughts on “खुद के लिए समय निकाले – Khud Ke Liye Samay Nikale.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *