Panchtantra Stories in Hindi – पंचतंत्र की प्रसिद्ध कहानियाँ

Panchtantra Stories in Hindi – पंचतंत्र की प्रसिद्ध कहानियाँ :

हम सभी ने अपने बचपन में पंचतंत्र की कहानियाँ जरूर पढ़ी होंगी। पंचतंत्र की कहानियाँ आज भी बच्चो की पसंदीदा कहानियों में से एक है । ये कहानियाँ मनोरंजक और रोचकता के साथ – साथ बच्चो को नैतिक ज्ञान , संस्कार , धर्म , प्रेम और त्याग का पाठ भी पढ़ाती है। आज मैं आपके साथ शेयर करने जा रही हूँ पंचतंत्र की प्रसिद्ध कहानिया

राजा की बुद्धि – Panchtantra ki Kahaniya

Panchtantra Stories in Hindi
Panchtantra Stories in Hindi

एक बार जंगल में सभी जानवरो ने अपना राजा चुनने के लिए एक सभा बुलाई। इस सभा में भालू इतनी मस्ती में झूम के नाचने लगा उसका नाच देख कर दूसरे वन्य प्राणी भी झूमने लगे। इसलिए उन सभी ने भालू का नाम राजा के पद के लिए प्रस्तुत किया। इस पर सभी ने अपनी सहमति जताई और भालू को राजा बना दिया।

लेकिन लोमड़ी को यह सहन नहीं हुआ उसे बहुत गुस्सा आया। वह मन – ही – मन भालू से ईष्या करने लगी। वह लोमड़ी हमेशा सोचती कैसे भालू को अपमानित किया जाये। एक दिन घूमते – घूमते लोमड़ी यही सोच- विचार रही थी की उसे एक फंदा दिखाई दिया। उस पर छोटा – सा मांस का टुकड़ा लगा हुआ था। चलाक लोमड़ी झट से समझ गयी की किसी शिकारी ने शिकार फाँसने के लिए लगाया है।

वह फंदे को दूर से ही देख रही थी। तभी उसे भालू राजा को अपमानित करने का उपाय सूझ गया। लोमड़ी समझ गयी की भालू राजा की मोटी बुद्धि में फंदे वाली बात नहीं आएगी। अतः वह भालू राजा को उस स्थान पर ले आयी।

चलाक लोमड़ी , भालू राजा को वह मांस का टुकड़ा दिखाते हुए बोली , ” महाराज मैं आपके जंगल की स्वामिभक्त प्रजा हूँ…इस मांस के टुकड़े को देखते ही मैं आपके पास चली आयी। मैंने इसे छुआ तक नहीं , इस पर सिर्फ आपका हक है। “

फिर जैसे ही भालू उस मांस के टुकड़े को फंदे से अलग करने लगा , वह उसके गले में फंस गया।

चतुर लोमड़ी भालू की यह दशा देख कर खिल -खिलाकर हॅसने लगी और बोली , ” महाराज , राजा की पदवी के लिए सिर्फ नाचने की नहीं , अक्ल की भी जरूरत होती है।

कहानी की सीख : किसी की भी बातों पर आँख बंद कर के विश्वास नहीं करना , हमेशा अपनी अक्ल का इस्तेमाल करना चाहिए।

प्यासा कौआBest Panchtantra Stories in Hindi

Panchtantra Stories in Hindi

गर्मियों का मौसम था, और दोपहर के समय भीषण गर्मी पड़ रही थी। एक प्यासा कौआ पानी की तलाश में इधर – उधर भटक रहा था उसे बहुत ज़ोरो की प्यास लगी थी। लेकिन उसे पानी कही नहीं मिल रहा था।

अंत में वह कौआ थक कर एक बागान में जा पहुँचा और पेड़ की डाल पर बैठ गया। अचनाक उसकी नज़र पेड़ के पास पड़े घड़े पर गयी। वह उड़ कर घड़े के पास गया।

कौएं ने देखा उसमे थोड़ा पानी है. जब वह पानी पीने के लिए घड़े में झुका लेकिन अफ़सोस उसकी चोंच पानी तक ना पहुंच सकी। ऐसा इसलिए हुआ क्योकि घड़े के पानी बहुत कम था। लेकिन वह कौआ दुःखी नहीं हुआ बल्कि , पानी कैसे पीये इसके उपाए खोजने लगा। तभी उसे एक उपाये सुझा , वह आस – पास पड़े कंकड़ पत्थर चुन कर घड़े में डालने लगा। लगातार पानी में कंकड़ डालने से घड़े का पानी ऊपर आ गया फिर कौए ने आराम से पानी पिया और उड़ गया।

कहानी की सीख : दोस्तों हमे इस कहानी से यह शिक्षा मिलती की अगर हमारे अंदर कुछ करने की चाह हो तो हमे राह जरूर मिलती है। इसलिए हमारा पहला काम है अपने लक्ष्य की चाह (इरादा) बनाना फिर उसके लिए मेहनत करना। जैसे इस कहानी में कौएं ने पहले इरादा बनाया की उसे पानी पीना है। तभी उसने उपाय सोचा और उसे इतना अच्छा idea आया, और वह पानी पीने में सफल हुआ।

read more : जादुई चक्की – Short Hindi Stories for Kids

लालची कुत्ता – पंचतंत्र की कहानी

Panchtantra Stories in Hindi
panchtantra kahaniyan

यह कहानी है एक लालची कुत्ते की , कुत्ता बहुत ही लालची था। एक दिन कुत्ते को बहुत भूख लगी और वह भोजन की तलाश में इधर – उधर भटकने लगा, उसे कही भोजन नहीं मिल रहा था। अंत में वह एक मांस की दुकान के पास जा पहुँचा. और वहाँ से एक हड्डी का टुकड़ा लेकर भाग गया।

लालची कुत्ते ने सोचा कही एकांत में जाकर इसे खाता हूँ. एकांत स्थान खोजते – खोजते वह एक नदी किनारे जा पंहुचा। अचानक उसे नदी में अपनी परछाई दिखी , लेकिन वह समझ नहीं पाया उसने सोचा यह कोई दूसरा कुत्ता है। वह लालची कुत्ता सोचने लगा क्यों ना इस कुत्ते का भोजन छीन लिया जाये , इससे खाने का मज़ा दोगुना हो जायेगा। वह अपनी परछाई को देख ज़ोर से भौका , भौकने से उसका भोजन नदी में जा गिरा। अब वह अपने हिस्से का भोजन भी गवा चूका था। लालची कुत्ता बहुत पछताया और मुँह लटकाकर भूखा वापस आ गया।

कहानी की सीख : लालच बुरी बला है , कभी भी दूसरे को देखकर लालच और ईष्या नहीं करनी चाहिए। हमे अपनी किस्मत या मेहनत से जो भी प्राप्त हुआ है उसमे संतोष करना चाहिए।

read more : अकबर बीरबल की रोचक कहानियां

Must Read : सिक्को की हेरा फेरी – Inspire from Phir Hera Pheri Comedy Movie

दोस्तों ! मुझे उम्मीद है आपको Panchtantra Stories in Hindi पोस्ट जरूर अच्छी लगी होगी। हमे अपनी राय अवश्य दे।

Note : हमे Email पर Subscribe कर Talkshauk से जुड़े और पाये हर पोस्ट की notification सबसे पहले। धन्यवाद।।

About Sarabjeet Kaur

Hello Friends I am Sarabjeet Kaur Founder of talkshauk.com . My motive is to spread Positivity in the world.

View all posts by Sarabjeet Kaur →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *