Motivational Story in Hindi – प्रेरणादायक कहानिया बदल देगी सोच

3
225
motivational story in hindi
motivational story in hindi

Motivational Story in Hindi – प्रेरणादायक कहानिया बदल देगी सोच :

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका आज की इस पोस्ट motivational story in hindi , आज मैं आपके साथ ऐसी तीन प्रेरणादायक कहानिया शेयर करने जा रही हूँ , जो प्रेरित करेंगी आपको जीवन में आगे बढ़ने के लिए। आज की कहानियो से हम जानेंगे कैसे लगन के साथ काम किया जाये तो सफलता निश्चित तौर से मिलती ही है। और भी अच्छी – अच्छी बातें जानेंगे हम इन छोटी कहानियों से। तो चलिए पढ़ते है आज की motivational story in Hindi पोस्ट।

लगन का फल

motivational story in hindi
Motivational Story in Hindi

उस बालक का मन विद्यालय में नहीं लगता था। विद्यालय में वह और छात्रों के द्वारा मंदबुद्धि कहलाता था। कक्षा में भी वह बालक सबसे पीछे रहता था , उसके अध्यापक भी उससे नाराज़ रहते थे। क्योकि उसकी बुद्धि का स्तर औसत से भी नीचे था। कक्षा में भी उसका प्रदर्शन हमेशा निराशाजनक ही होता था। अपने दोस्तों एवं सहपाठियो के बीच वह उपहास का विषय था। विद्यालय में वह जब की प्रवेश करता उस बालक पर चारों ओर से व्यंग और बाणो की बौछार सी होने लगती। इन सब बातों से परेशान हो कर , तंग आकर विद्यालय जाना ही छोड़ दिया।

एक दिन वह बालक मार्ग पर यूँ ही चलता हुआ जा रहा था। चलते हुए उसे ज़ोरो की प्यास लगी, वह इधर – उधर अपनी प्यास बुझाने के लिए पानी तलाशने लगा। अंत में उसे एक कुआँ दिखाई दिया , वे वहाँ गया और अपनी प्यास बुझाई। वह चलता – चलता काफी थक गया था , इसीलिए पानी पीने के बाद वही बैठ गया , तभी उसकी नज़र पत्थर पर पड़े , उस निशान पर गयी. जिस पर बार – बार कुँए से पानी खींचने के कारण रस्सी के निशान पड़ गए थे। वह मन ही मन सोचने लगा की जब बार – बार कुँए से पानी खींचने से पत्थर पर निशान पड़ सकते है तो निरंतर अभ्यास से मुझे भी विद्या आ सकती सकती है।

*** inspirational story in hindi ***

Read: खुद पर विश्वास प्रेरणादायक कहानी

उसने अपने इस विचार को गांठ बांध लिया और पुनः विद्यालय जाना शुरू कर दिया। उसकी लगन देख कर अध्यापको ने भी उसका भरपूर सहयोग किया। उसने मन लगा कर कठिन परिश्रम किया। कुछ सालो बाद यही बालक महान विद्वान वरदराज के रूप में विख्यात हुए , जिन्होंने संस्कृत में मुग्धबोध और लघुसिद्धांत कौमुदी जैसे ग्रंथो की रचना की।

इस कहानी का अर्थ – ” अगर धैर्य , लगन और परिश्रम से कार्य किया जाये तो उन पर विजय प्राप्त कर अपने लक्ष्यों की प्राप्ति की जा सकती है। सामान्यता यह होता है की लोग बड़ी उत्सुकता से काम तो शुरू कर देते है परन्तु धैर्य खो देते है। लेकिन जो लोग लगन से काम करते रहते है। उन्हें सफलता अवश्य मिलती है। “

गुरु और शिष्य – Short Inspirational Story in Hindi

motivational story in hindi
motivational story in hindi

बहुत समय पहले की बात है गंगा तट पर एक ऋषि का आश्रम था। उनके बहुत से शिष्य थे जिन्हे वे शिक्षा देते थे और अनेक गूढ़ विद्याओं का ज्ञान भी देते थे। उनके अनेको शिष्यों में उनके चार शिष्य उन्हें बेहद प्रिय थे। जब उनकी शिक्षा पूरी हुई तो गुरूजी ने चारो शिष्यों को बुला कर उनके ज्ञान के बारे में जानना चाहा की तुमने कितना ज्ञान प्राप्त कर लिया है।

गुरूजी ने अपने शिष्यों से कहा – ” मैंने तुमलोगो को बहुत सी विद्या सिखाई है। अब मैं यह देखना चाहता हूँ की तुमलोगो में से किसने ,कौन सी विद्या को सबसे ज्यादा पसंद किया। और किस विद्या के प्रयोग पर तुम्हे सबसे ज्यादा प्रसन्नता हुई है। इस पर उनका पहला शिष्य बोला – ” गुरूजी मैंने आपकी सिखाई सभी विद्याओ में से मंत्र फुक कर आग बुझाने वाली विद्या पर सबसे ज्यादा ज़ोर दिया है। वे मुझे अच्छी तरह याद है और मैं इसका कभी भी प्रयोग कर सकता हूँ , बाकि मुझे खास याद नहीं है।

दूसरा शिष्य बोला – ” गुरूजी मैंने पानी पर चलने की विद्या को सिखने और प्रयोग पर ज़ोर दिया है। और अब मैं इस पर माहिर हो गया हूँ , आप कभी भी मेरी परीक्षा ले सकते है। उनका तीसरा शिष्य बोला – ” गुरूजी मैंने तेज़ आंधी को मंत्र के द्वारा बस में करने की कला अच्छे से सीख ली है। मैं इसमें किसी को भी मात दे सकता हूँ। “

motivational story for success

उनके चौथे शिष्य ने कहा – ” गुरूजी मेरी रुचि इन चीज़ो में नहीं रही… मैं सिर्फ मन को बस में रखने की कला ठंग से सीख पाया हूँ…और मैंने इसी पर अतिरिक्त परिश्रम किया है। मुझे लगता है हमलोग मन को नियंत्रण में रख कर ही जीवन को अच्छे और सामान्य रूप से जी सकते है। “

अपने चौथे शिष्य की बात सुनकर ऋषि बहुत प्रसन्न हुए और उससे कहा – ” पुत्र वास्तव में तुमने ही सभी विद्याओं एवं शिक्षा की जड़ को पकड़ लिया है।”

कहानी का आशय है – किसी भी विद्या में महारत हासिल करने के लिए सबसे पहले मन की गति को नियंत्रण करना सबसे ज्यादा आवयश्यक है। जिसने मन की गति पर अधिकार कर लिया समझ लो वह सभी तरह के मोह और लोभ को जीत लेगा। जो सुखी जीवन के लिए जरुरी है।

समस्या का समाधान

Motivation Story in Hindi

एक व्यक्ति जिसका भरा पूरा परिवार था। उसके परिवार में उसके माता -पिता , पत्नी बच्चे सभी थे उसका अच्छा खासा व्यवसाय भी था। लेकिन वो बड़ा परेशान रहता था , उसके जीवन में परेशानी आती वह उसे हल करता की दूसरी परेशानी फिर आ जाती। वो सोचता था भगवान ने मेरे साथ ही ऐसा क्यों किया है मैं ही क्यों परेशान होता हूँ। उसने अपने घर वालो से पूछा , अपने माता – पिता से पूछा।

उनके घर वालो और माता – पिता ने यही कहा – ” परेशानी आ रही है तो समाधान भी आपको ही करना है कोई दूसरा आ कर तो नहीं हल करेगा। ” लेकिन वह किसी के भी जवाब से संतुष्ट नहीं होता था। एक दिन उस व्यक्ति के गांव में एक संत आये। तो उसके घर वालो ने कहा – जाओ उनके पास हो सकता है आपको अपनी समस्या का समाधान मिल जाये।

वो संत के पास गया सारा दिन प्रवचन सुना , शाम को उनके पास गया और कहा महाराज – मैं एक परिवार वाला व्यक्ति हूँ , मैं अपना व्यापार भी करता हूँ कैसे अपने जीवन की गाड़ी को आगे बढ़ा रहा हूँ दो वक़्त की रोटी कमाता हूँ , लेकिन मुझे लगता है सबसे ज्यादा परेशान भी मैं ही हूँ, सबसे ज्यादा समस्या मेरे ही साथ है। ऐसा मेरे ही साथ क्यों होता है। मैं एक समस्या का हल ढूंढ़ता हूँ तो दूसरी आ जाती है। दूसरी का ढूंढ़ता हूँ तो तीसरी खड़ी हो जाती है।

*** Best motivational story ***

Read : भाग्य बड़ा या कर्म motivational story

महाराज मंद – मंद मुस्कुराये और उसे कहा – ” मैं आपका जवाब अभी नहीं दे सकता आप रात को आकर मिले। ” अब परेशान क्या ना करता वो व्यक्ति फिर रात पहुँचा महाराज जी के पास गया और कहने लगा – ” महाराज आपने क्या सोचा “

महाराज कहने लगे किस बात का , उन्होंने कहा मैंने आपसे एक सवाल किया था की मैं बहुत परेशान रहता हूँ , मेरे जीवन में बहुत समस्या हैं , मैंने इस समस्या का समाधान पूछा था। “

motivational story for Success

महाराज जी ने कहा अच्छा याद आया लेकिन मैं इस वक़्त बहुत थक गया हूँ। तुम सुबह मिलो तो शायद तुम्हे समस्या का समाधान मिल गए। अब बेचारा परेशान था क्या करता उसने सोचा सुबह तक तो समस्या का अंत होना ही है तो यही रुक जाते है। तो उसने महाराज जी से कहा – अगर मैं आज रात यही रुक जाऊं तो।

इस पर महाराज जी ने कहा – अगर तुम संतो की कुटिया में रुकना चाहते हो तो तुम्हे एक काम करना होगा। तुम ऐसे ही यहाँ नहीं रुक सकते। उन्होंने कहा हम जहाँ भी कथा , प्रवचन करने जाते तो हमारे साथ बहुत अनुयायी भी आते है और उनके साथ उनके पशु भी। तो ये जो बाहर इतने सारे ऊँट खड़े है तुम्हे इनका ध्यान रखना है की इनका रात को विश्राम हो जाये।

तो उस व्यक्ति ने कहा जी महाराज बिलकुल मैं ये काम कर दूंगा। महाराज जी ने कहा लेकिन एक बात ध्यान रखना इसमें से एक भी ऊँट खड़ा नहीं रहना चाहिए। सब के सब रात्रि विश्राम कर ले, उस व्यक्ति ने कहा ठीक है महाराज।

महाराज जी ने कहा सुबह मैं आपकी समस्या का समाधान बताऊंगा। इतना कह महाराज जी सोने चले गए। जब सुबह हुई वो बाहर आये उन्होंने देखा वो व्यक्ति बड़ा परेशान सा है। महाराज जी ने पूछा क्या हुआ – आपने रात्रि विश्राम किया और पशुओं ने विश्राम किया।

मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी

क्या महाराज जी मैं तो रात भर परेशान रहा , जगता रहा। इतने सारे ऊँट थे जब मैं किसी चार को बैठाता तो पाँचवा खड़ा हो जाता। दस को बैठाता तो ग्यारवाँ खड़ा हो जाता। एक क्षण भी ऐसा नहीं आया जिसमे ये सारे ऊँट एक साथ विश्राम कर सके। और इनको विश्राम कराने के चक्कर में मैं रात भर जागता रहा , परेशान रहा।

महाराज फिर मंद – मंद मुस्कुराये और कहा – यही तुम्हारी समस्या का समाधान था। तो इस पर वो व्यक्ति कहने लगा ” कैसे ” । महाराज जी ने कहा – देखा इतने सरे ऊँट थे लेकिन एक पल भी ऐसा नहीं आया जिसमे सारे ऊँट एक साथ विश्राम कर रहे हो , नहीं आया ना। उसी प्रकार जीवन से समस्याएं होती है इतना बड़ा जीवन है। समस्यां चलती रहती है। लेकिन समझदार व्यक्ति वो होता है। जो इन समस्याओं को हल करे , समस्याओं से लड़े और उनका निपटारा करे और आगे आने वाली समस्या के लिए भी तैयार रहे।

Moral and Motivation Story

कहानी से हमने जाना – ऐसा कोई पल नहीं आता जब किसी को कोई समस्या ना हो। आप इतिहास उठा कर देख ले , कोई अमीर से अमीर व्यक्ति भी हो या गरीब से गरीब व्यक्ति हो जिसके जीवन में समस्यायें ना आयी हो। तो समस्यायें सभी के जीवन में आती है। इसलिए कभी आप पर समस्या आये तो ये ना सोचे की सिर्फ मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है।

दोस्तों आशा करती हूँ…, आपको इन Motivational Story in Hindi पोस्ट से जरूर कुछ ना कुछ प्रेरणा मिली होगी। आपको कौन सी कहानी ने सबसे ज्यादा प्रेरित किया Comment जरूर करे, कहानी अच्छी लगी तो share करना ना भूले। अगर आप कोई सुझाव देना चाहते है जैसे आप किस तरह के post पढ़ना चाहते है आदि , तो आप इसके लिए भी comment कर अपना सुझाव हमारे साथ साझा कर सकते है। धन्यवाद

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here