Stress Management in Hindi | Stress Free Life Tips in Hindi

Stress Management in Hindi |Stress Free Life Tips in Hindi :

आज हम बहुत ही important topic पर बात करेंगे और वह है Stress या तनाव, इसकी जानकारी हम सभी को होनी चाहिए। और हमे जरूरत भी है।

क्या आपको लगता है Stress के बिना ज़िन्दगी possible है ? तो मेरा जवाब होगा ” ना “.
अब ज़िन्दगी है तो Stress तो होगी ही। लेकिन ये हम पर Depend करता है हम इसे किस प्रकार लेते है या हमारा इसके प्रति नज़रिया कैसा है। तो चलिए जानते है Stress को manage कैसे किया जाये जिससे हमारी ज़िन्दगी Stress Free रहे।

Stress (तनाव) क्या है –

जब कोई चीज़ हमारी क्षमता (Ability) या फिर हमारे Control से बाहर हो जाती है। जिसकी वजह से हम असुरक्षित ( insecure) महसूस करने लगते है तब Stress या तनाव उत्पन्न होता है।

For Example : आपके बॉस ने आपको 1 file दी और आपसे कहा की एक दिन में ये काम complete हो जाना चाहिए। अब आप यहाँ सोचने लगे , मैं इतनी बड़ी file एक दिन में कैसे finish करू , अगर finish नहीं हुई तो बॉस को क्या जवाब देंगे , आपके दिमाग में तरह – तरह के सवाल आने लगे ,काम का workload बढ़ गया।

अब यहाँ पर समझे , आपको जो काम मिला वह क्षमता (Ability) से बाहर लगा आपको , आप insecure महसूस करने लगे और उत्पन्न हुआ तनाव ( Stress ).

और इसी तरह emotional stress भी उत्पन्न होता है। जब हम किसी से कुछ Expectations ( उम्मीद ) रखते है। और वो पूरी नहीं हो पाती।

और जैसे हम किसी को बहुत ज्यादा भाव दे रहे है उसके लिए बलिदान (Sacrifice) कर रहे है , हर time उसे खुश करने में लगे है। और बदले में हम चाह रहे है हमे भी उससे वही same response मिले। एक बात याद रखे हम किसी को ज़बरदस्ती बदल नहीं सकते, और ये situation होती है हमारे Control से बाहर और जब return में हमे ऐसा नहीं मिलता। तो हमे हो जाता है तनाव (Stress) .

और अगर तनाव (stress) को समय रहते control ना किया जाये तो यह आगे चल कर Depression का रूप ले सकता है। तो इसीलिए Stress Management बहुत ही जरुरी है हम सभी के लिए। ” Stress Management in Hindi “.

Stress Management in Hindi | Stress के प्रकार –

Stress Management in Hindi

Stress (तनाव) दो प्रकार के होते है। सकारात्मक तनाव (Positive Stress ) और नकारात्मक तनाव ( Negative Stress). हम क्या और कैसे सोचते है। वो impact करता है हमारे Stress Level को।

for example : हम वही पहले वाले example से समझते है। आपके बॉस ने आपको 1 file दी और आपसे कहा की एक दिन में ये काम complete हो जाना चाहिए।

अब इस Situation के दो पहलु बनते है। एक Negative और एक Positive , अगर आप इस work को as Opportunity सोचते है. Challenge की तरह accept करते है। की मुझे इस काम को Complete करना है। जिससे मेरे Promotion में help मिलेगी। मेरा impression अच्छा बनेगा। तो ये हुआ positive stress .

और वही आप अगर इससे Burden की तरह लेंगे , की मुझसे ये नहीं हो पायेगा , नहीं होगा तो बॉस क्या कहेंगे , तब ये बन जायेगा negative stress .

Stress उन लोगो पर ज्यादा हावी होता है जो ज्यादा Confuse रहते है , दुसरो से Comparison करते रहते है। और Change से डरते है ( जो change को स्वीकार नहीं करना चाहते ).

Confuse लोगो को Stress (तनाव ):

for example – आपकी job लगी और आपको दूसरे शहर में shift होना है। अब आप दिन – रात इसी सोच में confuse है की job तो मेरे पसंद की है पर दूसरे शहर नहीं जाना चाहता अब क्या करू। यहाँ एक तरह सब आपके पसंद का है और दूसरी तरफ आप सोच रहे है दूसरे शहर में shift होना ठीक होगा या नहीं।

Change को accept नहीं करते : जब भी हम बदलाव को ले के तैयार नहीं होते हम stress ( तनाव ) में जाते है।

यह बदलाव किसी भी प्रकार का हो सकता है – job , marriage life , career , etc..etc .

दुसरो से Comparison(तुलना) करना : खुद की तुलना दुसरो से करते रहना भी तनाव के कारणों मे से एक है। जब हम खुद की तुलना दुसरो से करते हो तो हम अपना आत्मसम्मान खो रहे होते है। आपको ईश्वर ने जैसा बनाया है उसे स्वीकार करे , आपके पास जो कुछ भी है उसे स्वीकार करे , अपने goals achieve करने के लिए मेहनत करे ना की comparison. अगर आप ऐसा करते है तो आज से ही ऐसा करना छोड़ दे। यह आपके जीवन में positivity लायेगा।

Stress Management क्यों जरुरी है (Stress Management in Hindi) –

Stress Management या तनाव प्रबंधक हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण है , तनाव सिर्फ हमारे मस्तिष्क को ही नहीं बल्कि हमारे पुरे शरीर को प्रभावित करता है। तनाव के कारण हमारे शरीर में कई तरह के तनाव हार्मोन्स का स्तर बढ़ने लगता है। जिससे हमारे शरीर में कई प्रकार की बीमारिया पैदा होती है , दिल की बीमारी (heart problems ) , High blood pressure , thyroid , नींद ना आना (insomnia), सर में दर्द रहना। आपने देखा ही होगा आजकल ये बीमारिया आम होती जा रही है और छोटी उम्र से लोग ऐसी बीमारियों से ग्रसित हो रहे है। हमे इन सब से बचने के लिए जरुरी है Stress Management ( तनाव प्रबंधक ) , “Stress Management in Hindi “

Stress Free Life Tips in Hindi –

Stress Management in Hindi
Stress Free Tips

Stress Management in Hindi.

1 ) अपने जीवन में तनाव की वजह को पहचाने :

Stress Management ( तनाव प्रबंधक ) में सबसे पहले आप तनाव में क्यों रहते है इसकी वजह पहचाननी होगी। हालांकि छोटे – मोटे रोजमर्रा के जीवन में होने वाले तनाव को पहचानना आसान है। लेकिन अगर आपको ज्यादा stress (तनाव) रहता है तो आप इसकी वजह खोजे.

आप तनाव पत्रिका ( Stress Journal ) लिखना शुरू कर सकते है : आप को जब भी तनाव हो आप उस तनाव पत्रिका ( Stress Journal ) में इस प्रकार लिख सकते है।

  • आपको आज किस वजह से तनाव हुआ ?
  • आपको तनाव में शारीरिक और भावनात्मक रूप से कैसा महसूस हुआ ?
  • आपने उस समय क्या प्रतिक्रिया दी ?
  • क्या आपने इससे निपटने के लिए या खुद को बेहतर महसूस कराने के लिए कुछ किया ?

इससे आप खुद को ज्यादा अच्छी तरह से समझने लगेंगे।

2 ) जिस चीज़ पे आपका Control नहीं है उसके पीछे परेशान ना रहे :

अब दूसरी बात ,जो चीज़ आपके control से बाहर है जिसमे आप कुछ नहीं कर सकते। उसके बारे सोचना बंद कर दे और उस चीज़ को accept करे। वरना ये चीज़ आगे चल कर काफ़ी ख़तरनाक साबित हो सकती या डिप्रेशन का रूप ले सकती है अगर आप भी ऐसी बातें सोचते है तो आज से ही सोचना बंद कर दे।

3 ) मौज – मस्ती और आराम के लिए समय निकाले :

आप अपने लिए थोड़ा समय जरूर निकाले जिसमे आप खुद को आराम दे , घूमने जाये , खेले , अपनी पसंद के म्यूजिक सुने, आप अपनी पसंद की books , novels भी पढ़ सकते है। यह आपके stress level को कम करने में मदद करेगा।

4 ) Family Relation को अच्छा कर लीजिये :

अगर आपके family relations ठीक नही है तब आपको stress (तनाव) होना ही है तो आप अपने family members के साथ अपने relations अच्छे कर ले। क्योकि जीवन में इंसान अकेला नहीं रह सकता। जब हम अपने family members के साथ communicate करते है। अपने सुख – दुःख बांटते है अपनी feelings शेयर करते है ,तो इससे आपका stress (तनाव) कम होता है।

5 ) व्यायाम या योग करे :

अपनी दिनचर्या में 30 मिनट या 1 घंटे का समय योग या व्यायाम के लिए जरूर निकाले। योग या व्यायाम हमारे तनाव को कम करता है यह तो डॉक्टरों ने भी प्रमाणित किया है। और योग या व्यायाम तो हमारे स्वास्थ के लिए भी लाभदायक है।

6 ) अच्छी नींद ले :

stress (तनाव) से बचना है तो 6 – 8 घंटो की अच्छी नींद जरूर ले। ज्यादा रात तक जागना फिर सुबह देर तक सोना तनाव उत्पन्न करता है। इसलिये समय पे सोये और अच्छी नींद ले।

7 ) fast food और soft drink Avoid करे :

कभी भी fast food और soft drinks का सेवन ज्यादा ना करे यह आपके stress level को बढ़ाता है। और पानी ज्यादा पीये यह आपके तनाव को कम करने में मदद करेगा और शरीर को hydrate रखेगा।

8 ) बच्चो के साथ समय बिताये :

जब आप बच्चो के साथ खेलते है उनके साथ समय बिताते है तो आप दुनिया को भूल जाते है और अच्छा महसूस करते है जिससे stress कम या खत्म हो जाता है। इसलिए जब भी समय मिले बच्चो के साथ समय जरूर बिताये।

9 ) Long Walk पर जाये :

अगर आप तनाव में हो और आपके पास समय हो तो आप एक Long Walk पर चले जाये और तब तक चले जब तक आप थक ना जाये। अगर आप ऐसा करेंगे तो इससे आपका stress कम हो जायेगा। और आपको थकान की वजह से नींद भी अच्छी आएगी, ” Stress Management in Hindi “

10 ) खुद को प्रकृति से जोड़े :

खुद को प्रकृति से जोड़ ले , जब आप प्रकृति के साथ जुड़ते है तो stress कम होता है , ऐसी जगह पे जाइये जहॉ पेड़ पौधे हो , झील या नदी हो , फूल हो जैसे आप पार्को में जा सकते है, और हो सके तो रोज जाइये। आप सूर्य उदय और सूर्य अस्त के नज़ारे को महसूस कर सकते है. इससे तनाव कम करने में मदद मिलेगी।

11 ) कृतज्ञता (Gratitude) की भावना रखे :

कृतज्ञता की भावना अपनाये , आपके पास जो कुछ भी है आप उसके लिए ईश्वर को धन्यवाद दे जैसे अपने अच्छे स्वस्थ के लिए धन्यावद दे , परिवार के लिए , घर के लिए , भोजन करने से पहले ईश्वर का धन्यवाद। इससे आपका नज़रिया सकारात्मक होने लगेगा और आपका तनाव कम हो जायेगा।

12 ) भगवान (Universe) पर भरोसा रखे :

आप जिस भी शक्ति को मानते है उस पर विश्वास रखे। उनसे प्राथना करे . इससे भी तनाव कम होता है।

13 ) मनपसंद काम करे :

आप अपने मन पसंद का काम करे जिससे आपको खुशी मिलती हो जैसे अगर आपको music पसंद है तो आप music सुन सकते है , आप shopping पर जा सकते है , खेल सकते है , या जो भी आपको पसंद है वो करे जिससे आपका तनाव कम होगा।

तो अब आप समझ गए होंगे Stress Management क्या है और क्यों जरुरी है Stress Management .

दोस्तों अगर आपको मेरी यह पोस्ट Stress Management in Hindi कैसी लगी हमे comment के माध्यम से जरूर बताये। और Facebook , twitter आदि पे शेयर करना ना भूले।

If u like this Post Please Share..

4 thoughts on “Stress Management in Hindi | Stress Free Life Tips in Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *