Success Businessman Story in Hindi – सपने हमेशा बड़े देखो

2
204
Success Businessman Story in Hindi
Dr. Amit Maheshwari

Success Businessman Story in Hindi – सपने हमेशा बड़े देखो :

नमस्कार दोस्तों , आज हम आपके लिए लाये है Success Businessman Story in Hindi एवं Real Inspirational Stories in Hindi की Series जहाँ हम आपके साथ Share करेंगे ऐसी Real Inspiring Stories , कई बार ऐसा होता है जो बातें हम समझ नहीं पाते। वह बातें हम किसी की जीवनी एवं कहानी से आसानी से समझ जाते है। क्योकि उनमे होता है सफल व्यक्तियों का संघर्ष , मेहनत , failure जिनकी वजह से वे सफल बनते है।

Story of Successful Businessman in Hindi –

Dr. Amit Maheswari अमित महेश्वरी Mettas Overseas Limited कंपनी के CEO , संस्थापक एवं निदेशक है और साथ ही Dr. Amit Maheswari Award Winning Global Business Trainer , Corporate Trainer भी है। और Business Growth , Sales Generation , Leadership, Team Work , Motivation और Management का ज्ञान एवं अपना अनुभव दुनिया भर में seminars के द्वारा Share करते है। डॉ. अमित महेश्वरी ने दुनिया भर में 1500 से अधिक Seminars एवं भाषण दिये है।

डॉ. अमित महेश्वरी की यह कहानी उदाहरण है अगर हिम्मत और हौसला है कुछ करने का तो रास्ते भी निकल ही आते है। इसलिए सपने हमेशा बड़े देखो।

Success Businessman Story in Hindi  – सफल उद्योगपति की कहानी

Success Businessman Story in Hindi
Success Businessman Story in Hindi 

डॉ. अमित महेश्वरी Mettas Overseas Limited कंपनी के CEO , संस्थापक एवं निदेशक। जिसका मूल्यांकन 200 करोड़ रुपये से भी ज्यादा है तो चलिए जानते है वे कैसे इतने बड़े मुक़ाम तक पहुँचे।

डॉ. अमित महेश्वरी जी रहा करते थे शकरपुर जेजे कॉलोनी , नई दिल्ली के एक छोटे से क़स्बे में अपने माता – पिता और दो बहनो के साथ पाँच लोगो के परिवार के साथ । उनका पालन – पोषण , शिक्षा वही पर हुई। उन्होंने नगर निगम के सरकारी स्कूल में 12वी तक पढाई की और उस वक़्त तक सबकुछ ठीक चल रहा था। जब उन्होंने 12वी पास की और कॉलेज की आगे की शिक्षा के बारे सोचा, तब पता चला उस वक़्त कॉलेज की फ़ीस 18 – 20 हज़ार रुपये थी। जब अमित महेश्वरी जी ने अपने पिता से फीस के बारे बात की तो वे समझ गए की शायद वे उतने सक्षम नहीं है की 18 – 20 हज़ार रुपये कॉलेज की फीस भर सके। तब उनके पिता ने कहा ठीक है कोशिश करते है किसी तरह तुम भी कोशिश करो कैसे कॉलेज में Admission ले सकते हो।

अमित महेश्वरी जी बहुत चिंतित थे और सोच रहे थे एक 12वी पास लड़का आखिर क्या कर सकता है। एक क्लर्क की नौकरी कर सकता है , Courier Boy की नौकरी कर सकता है , छोटी – मोटी Office में काम कर सकता है। सोचते – सोचते उनके मन में एक ख्याल आया , अगर वे जिस Subject में सबसे अच्छे है अगर उसी Subject की वे Tuition पढ़ाते है तो शायद कम समय में उतना पैसा इकट्ठा कर ले , जिससे की कॉलेज में Admission मिल सके।

फिर अमित जी ने उन्ही Coaching’s में संपर्क किया जहाँ वे खुद पढ़ा करते थे। लेकिन वहाँ भी बात नहीं बनी उन्हें वह से रिजेक्ट कर दिया गया। क्योकि लोगो का कहना था आपने तो खुद ही अभी 12वी पास की है। और आपको मौका देंगे तो हम कहाँ जायेंगे। अब अमित जी ने अपने क्षेत्र के सभी Coaching’s में कोशिश की लेकिन कही भी बात नहीं बनी।

Read : 10 Success मंत्र दिलायेंगे आपको सफलता

वे निराश एवं चिंतित हो कर घर लौट आये , और सीढयों में बैठ कर सोचने लगे की अब क्या किया जाये जिससे 3 – 4 महीनो में इतने पैसे कमा पाए जिससे की कॉलेज में Admission ले सके, और तभी उनकी नज़र अपने एक पड़ोसी पर पड़ी जो की अपने घर का दरवाज़ा paint कर रहा था और देखते ही देखते उसने पूरा paint कर दिया। वहाँ एक बाल्टी में थोड़ा paint बचा था तभी उनके मन में एक Idea क्लिक हुआ। क्योकि जब वे tution या School पढ़ने जाते थे उन्होंने बहुत सारे Advertisement देखे थे। क्यों न वे कैसे भी कर के कुछ Advertisement कर दे की वे Accounts की Tutions लेते है जिससे उन्हें कुछ Students मिल जायेंगे और उनकी एडमिशन का इंतेज़ाम हो जायेगा।

और फिर क्या अमित जी ने Paint की बाल्टी उठाई और निकल पड़े अपनी मंजिल की ओर। और दीवारों पर लिखना शुरू किया “Tutor Available For Accounts ” . उस वक़्त उनके यहाँ फ़ोन नहीं होता था तो उन्होंने अपने Advertisement के नीचे अपने पड़ोसी का फ़ोन नंबर लिख दिया। अब जब ये task पूरा हो गया अब उन्हें इंतज़ार रहने लगा Advertisement के परिणाम का और वे राह देखने लगे फ़ोन कॉल्स की। ऐसे ही एक दिन बीता , दो दिन बीते धीरे – धीरे कई दिन बीत गए। और एक दिन उनके लिए कॉल आया उनके पड़ोसी के यहाँ Tutions के लिए , एक Lady को अपनी बेटी के लिए Accounts के Home Tutor चाहिए थे और इस तरह उन्हें मिला यह पहला मौका।

जब भी हमे किसी चीज़ में पहला मौका मिलता है तो हम अपना 100 % देने की कोशिश करते है और अमित जी ने भी यही किया।

डॉ. अमित महेश्वरी : अगर Life में कभी भी opportunity मिले ,तो उसमे अपना 100 % देने का प्रयास करे। जब आप अपना 100 % देंगे तो आपकी सफलता के Chances निश्चित है।


उन्हे अपनी पहली मेहनत की फीस मिली और उनकी उसी Student ने अपने और भी friends को Tution के लिए अमित जी को Recommend किया। जिससे उन्हें और भी Coaching’s मिली और वे सफल हुए अपने कॉलेज के Admission में और फिर इसी तरह उन्होंने अपने आगे की शिक्षा पूरी की।

इस सफलता के बाद उन्होंने Decide किया की वे अब Home Tutions की जगह अपनी खुद की Coaching Classes शुरू करेंगे। और फिर खुद एक बोर्ड बनाया और लिख दिया अपने Institute का नाम ” Gyan Institute “ और बोर्ड अपने घर के बाहर टाँग दिया। फिर इसी तरह छोटी – छोटी Advertisements करते रहे। और धीरे – धीरे उनके Students बढ़ने लगे। अब उन्होंने सोचा उनके पास सभी Accounts के स्टूडेंट्स पढ़ने आते है और दूसरे Subjects के लिए कही और जाते है। उन्हें idea आया क्यों ना अपने ही Coaching में दूसरे Subjects की भी सुविधा दी जाये। और फिर अमित जी ने अपने दोस्तों से जो उस Subject के toppers थे उनसे बात की किसी ने प्रस्ताव स्वीकार किया तो किसी ने नहीं। ऐसे ही उनके Students और बढ़े और उनका एक कमरे का कोचिंग भी , अपने ही गली में उन्होंने 3 – 4 कमरे किराये पर ले लिए। और आगे चल कर पुरे दिल्ली के अलग – अलग क्षेत्र में Gyan Institute की स्थापना की अलग Branches के तौर पर। और बाद में पुरे भारत में 60 Institute बना लिए।

Real Life inspirational Stories in Hindi

हर बिज़नेस में ऐसा वक़्त आता है जब बिज़नेस Down जाता है। और कोचिंग के बिज़नेस में एक समय ऐसा आता है जब 4 – 5 महीने कोचिंग खाली जाता है। और बिज़नेस पर लगा ख़र्च पूरा नहीं हो पाता। और फिर कुछ सोचना था इस Problem को दूर करने के लिए.., उस वक़्त मोबाइल फ़ोन का बिज़नेस तेज़ी से बढ़ रहा था। अमित जी ने इसे एक Opportunity के तौर पर लिया और 2001 में Mobile Technology को समझा और एक Syllabus डिज़ाइन किया। और शुरू किया off -Season में Mobile repairing कोर्स और बिज़नेस तेज़ी से Grow करने लगा।

अब जैसा की हर बिज़नेस में downs आते है इस तरह Mobile repairing कोर्स बिज़नेस में भी आये। China मोबाइल में चलन के कारण और यह Segment में डाउन जाने लगा और Loss होने लगा।

अब अमित जी ने सोचा उन्हें कोई ऐसी Industry चाहिए जिससे वे आगे बढ़ सके। इसी सिलसिले में वे अपने दोस्त से बात कर रहे थे की वे बिज़नेस करना चाहते है। उनके दोस्त ने उन्हें सलाह दी की उनके पिता Chamber of Commerce के मेंबर है और वे उनसे जा कर मिले और वहाँ की membership ले , वहाँ और भी लोगो से मिले।

Read : Dr. A.P.J Abdul Kalam जी की प्रेणादायक जीवनी

अमित जी वहाँ गए और उन्हें नज़र आया अपने बिज़नेस के लिए idea ” Steel Industry ” का उन्होंने सोचा यही Industry है जो अभी भारत में तेज़ी से grow करेगी । जब उन्होने इस Industry पर रिसर्च किया तब पता चला की इस पर invest करने के लिए 2 .5 से 3 करोड़ रुपये चाहिए। और उस वक़्त में वे Loss में जा रहे थे , पैसे तो थे नहीं।

डॉ. अमित महेश्वरी : ” लेकिन एक चीज़ मुझे पता था। अगर आपको बिज़नेस को Multiply करना है, बिज़नेस को Grow करना है तो आप अपने बिज़नेस को लोगो को समझाये , बताये , उनको अपना Proposal बताये तो आपको ऐसे बहुत से लोग मिल सकते है। जो आपके बिज़नेस पर Invest कर सकते है। “

और इसी तरह उन्होने अपना बिज़नेस प्रपोजल तैयार किया और अलग – अलग लोगो को प्रपोजल दिखाया , समझाया। और यहाँ उनका proposal रिजेक्ट होता गया लेकिन उन्होने हार नहीं मानी , उन्होंने रिजेक्शन या कमियों पर फ़ोकस करना और काम करना शुरू किया। उनका Proposal 65 बार रिजेक्ट हुआ और उन्होंने उसे 65 बार upgrade किया। और Finally उन्हें एक Investor मिले जो invest करने को तैयार हुए , और उस वक़्त अमित जी के पास पैसे नहीं थे तो उन्होंने अपनी ज़मीन , दुकान और गाड़ी बेच कर 25 लाख रुपये इकठ्ठा किये।

और इस तरह उन्होंने पहला Project लगाने का प्रयास किया। लेकिन कई बार ऐसा होता है जब आप बड़े – बड़े risk लेते है तो कई बार Risk Hit हो जाते है या तो Fail भी हो जाते है। उनके साथ भी ऐसा ही हुआ उनका बनाया Material 90 % reject हो गया। क्योकि Steel Industry की उन्हें कोई खास जानकारी नहीं थी। सिर्फ थोड़ी बहुत information के माध्यम से उन्होंने शुरू किया था।

लेकिन उन्होने फिर भी हार नहीं मानी , उन्हें पता था की अगर आप अपने Business Proposal के लिए Investors के पास जाते है तो कुछ लोग ऐसे होते है जो आपके Business Plan पर पैसा Invest करने के लिए तैयार हो जाते है। और इसी तरह वे कई investors से मिले। और उनका दूसरा Final Material बन तैयार हुआ , और इसी के पक्ष पर उन्होंने Advertisement करना start किया और उन सभी लोगो को बुलाया जिन्होंने Proposal reject किया था, वो सभी लोग आये Project को देखा , समझा और उनके साथ Business Association की और finally उन्होंने 27 September 2012 को जो Steel Industry का Project शुरू किया था 14 August 2014 को अपनी Public Limited Company बनाई और भारत में बहुत सारे Exclusive Showrooms बना कर और बहुत सारे Share Holders के साथ कंपनी की स्थापना की।

सीखने वाली बातें (Success Businessman Story in Hindi) –

Success Businessman Story in Hindi

1 ) Risk लेने की क्षमता होनी चाहिए।

2 ) सपने हमेशा बड़े देखो।

3 ) मेहनत करने से कभी पीछे ना हटो।

4 ) Environment बदलो।

आशा करती हूँ आपको हमारी यह पोस्ट Success Businessman Story in Hindi अच्छी लगी होगी। कृपया शेयर करे अगर अच्छी लगी तो। हम आपके लिए लाते रहेंगे Success Businessman Story in Hindi , Real Life inspirational Stories in Hindi . धन्यवाद

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here